15°C / साफ मौसम

Story in Audio

बड़े शहरों के किसी स्टेडियम में हज़ारों-हज़ार लोगों की भीड़ में होने वाले रॉक कॉन्सर्ट से अगर आप भी बोर हो गये हैं, तो इस बार किसी शानदार म्यूज़िकल महफिल के लिए पहाड़ों का रुख कीजिए। शहरी चिल्ल-पौं से परे सुहावने मौसम में हैवी मैटल संगीत के बजाए ज़रा रिदम एंड ब्लूज़ (आरएंडबी) की दीवानगी महसूस कीजिए। तो चलिये हमारे साथ ‘कसौली रिदम एंड ब्लूज़ फ़ेस्टिवल’ में। 

हिमाचल प्रदेश में स्थित बेहद खूबसूरत पहाड़ी नज़ारों वाला कसौली, एक ऐसा हिल स्टेशन है, जहां की ज़िदगी अलसाई सी मुद्रा में शायरी करती सी लगती है। मानो यह चर्चित हिल स्टेशन अपने मन से दुनिया से कटा-कटा सा है। लेकिन यहां के बैकुंठ रिज़ार्ट में आयोजित होने वाले सालाना ‘कसौली रिदम एंड ब्लूज़ फ़ेस्टिवल’ की आहटभर से ना केवल समूचा प्रदेश, बल्कि देश के महानगर भी ठिठक से गये। दरअसल, साल 2012 में ‘जेनेसिस फ़ाउंडेशन’ द्वारा शुरू किये गये इस फ़ेस्टिवल को आरंभ करने का उद्देश्य दिल की बीमारी से पीड़ित बच्चों के इलाज के लिए फंड इकट्ठा करना था, जो इस बार हुए 8वें संस्करण तक जारी है। 

इसके अलावा यह ईवेन्ट इसलिए भी बेहद खास बन पड़ा है, क्योंकि यहां विगत वर्षों में देश के बेहद जाने-माने और चर्चित बैंड्स और सोलो आर्टिस्ट अपनी प्रस्तुतियां दे चुके हैं। ऐसे दिग्गज कलाकारों में ऊर्जा से भरपूर शिल्पा राव और सदाबहार गायिका उषा उत्थुप और सबके प्यारे कंपोज़र लेज़्ले लुईस का नाम प्रमुखता से लिया जा सकता है। यही वजह है कि इस बार भी यहां जोश और ऊर्जा के साथ संगीत जुगलबंदी देखने को मिली। 

कसौली रिदम ब्लूज़ फेस्टिवल के मुख्य आकर्षण

पहला दिन: दिग्गजों का सम्मोहन रहा हावी 

जिंदगी हमेशा ज़िंदादिली से जियो। फिर चाहे वो छोटी हो या बड़ी। इसी मंत्र के साथ फ़ेस्टिवल का आगाज़ हुआ, जहां संगीत की दुनिया के दिग्गजों ने कुछ ऐसी ही बातें मंच से भी दोहराई। 

शुभांगी जोशी कलेक्टिव. हमेशा कुछ नया प्रस्तुत करने के लिए प्रसिद्ध शुभांगी जोशी कलेक्टिव ग्रुप ने इस बार भी अपने फैन्स को निराश नहीं किया और समूह के सदस्यों ने लोगों को मंत्रमुग्ध करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। 

माता बानी. रॉकर्स नीरल कार्तिक और कार्तिक शाही की जुगल जोड़ी वाले इस ग्रुप ने अपनी जादुई आवाज़ और तूफ़ानी संगीत के दम पर भीड़ को झूमने के लिए मजबूर कर दिया। इनके संगीत में समकालीन लहरियों का पुट आपको कहीं और सुनने में नहीं मिल सकता। यही वजह है कि जब ये जोड़ी मंच पर आती है, तो दर्शक किसी और ही दुनिया में पहुंच जाते हैं। 

परिक्रमा. सत्तर और अस्सी के दशक में जन्में लोगों में से शायद ही कोई ऐसा होगा, जो इस बैंड से वाक़िफ़ ना हो। या यूं कहिये कि हमारे देश में जेनरेशन एक्स और उससे एक पायदान पहले की युवा पीढ़ी में रॉक का कीड़ा जगाने का श्रेय इसी बैंड को जाता है। इस बार भी परिक्रमा ने क्लासिक राक की भारतीय वाद्य-यंत्रों के साथ ऐसी जुगलबंदी पेश की, जिसे ताउम्र भुलाना मुश्किल है। 

दूसरा दिन: दक्षिण की धमक 

सौंदर्या जयचंद्रन. इसमें कोई दो राय नहीं कि कर्नाटक एवं दक्षिण भारतीय शास्त्रीय संगीत को एक नई पहचान और मुकाम तक पहुंचाने का ज़िम्मा यह बैंड बखूबी उठा रहा है। सौंदर्या एक ऐसी संगीतकारा हैं, जिन्हें संगीत के क्षेत्र में अपने अतुलनीय योगदान के लिए अनेकों पुरस्कार मिल चुके हैं। और एक संगीत प्रेमी के तौर पर इस फ़ेस्टिवल में उन्हें सुनना खुद को धन्य कर लेने जैसा लगता है।  

थाईक्कुडम ब्रिज. 15 सदस्यों वाले इस बैंड की पोटली में अपने फैन्स को चौंकाने के लिए हमेशा कुछ नया होता है। इस ग्रुप के गायकों से लेकर साउंड इंजीनियर तक सभी सदस्य अपने-अपने हुनर में इतने कुशल हैं कि आप इन्हें सुनते समय एक अलग ही लेवल पर होते हैं। और इस बार भी इस ग्रुप ने वही सरगम और धड़कन बरकरार रखी। 

कसौली रिदम ब्लूज़ फेस्टिवल कैसे पहुंचे

हवाई यात्रा मार्ग. कसौली का निकटतम हवाई अड्डा, चंडीगढ़ एयरपोर्ट और कुल्लु-मनाली स्थित भुन्तर हवाई अड्डा है। चंडीगढ़ हवाई अड्डे से यहां मात्र एक घंटे में आसानी से पहुंचा जा सकता है।  

रेल यात्रा मार्ग. यहां का सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन सनवारा और कोटी हैं। 

सड़क यात्रा मार्ग. कसौली, सड़क मार्ग द्वारा दिल्ली, चंडीगढ़ और अंबाला सहित देश के अन्य सभी स्थानों से अच्छी तरह से जुड़ा है।  

एडोट्रिप के सर्किट प्लानर की मदद से अब यात्रा योजना बनाना हुआ और भी आसान। अब आप इस ख़ास शहर के लिए अपने मुताबिक यात्रा की योजना बनाएं । यहां आपको मिलेगा यात्रा से जुड़े हर एक सुझाव। क्लिक करें।  


  • 2 दिन

  • नृत्य संगीत

  • हिमाचल प्रदेश
  • कार्यक्रम की तारीख

    Yet to be announced

  • स्थान

    बैकुंठ रिज़ार्ट, कसौली

योजना बनाएं

+ गंतव्य स्थान जोड़ें

स्थान

0.0

रहने की जगह

पर्यटक जगहें

भोजन

परिवहन

ओवरऑल

उत्तर छोड़ दें:

  • रहने की जगह
  • पर्यटक जगहें
  • भोजन
  • परिवहन